Sunday, February 25, 2024
Homeसीवानसीवान में जीवित्पुत्रिका पर्व पर दो किशोरियों के शव नदी में मिले,...

सीवान में जीवित्पुत्रिका पर्व पर दो किशोरियों के शव नदी में मिले, परिजन बदहवास

सीवान में जीवित्पुत्रिका पर्व के दिन नहाने गई दो किशोरियों के शव दो दिन बाद नदी में मिले हैं। परिजन बदहवास हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, दोनों किशोरियां नौतन थाना क्षेत्र के चफवा गांव निवासी नारायण भगत की पुत्री मधु कुमारी (15) और रामविलास सिंह की पुत्री रागिनी कुमारी (14) थीं। शुक्रवार को जीवित्पुत्रिका पर्व के दिन वह अपनी मां के साथ गांव में ही झरही नदी में नहाने गई थीं। नदी में तेज बहाव होने के कारण दोनों गहरे पानी में चली गईं और डूब गईं।

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस और गोताखोरों की टीम नदी में शवों की तलाश में जुट गई, लेकिन शनिवार तक शवों का पता नहीं चल सका। रविवार को गोताखोरों ने खलवा पुल के पास दोनों के शव बरामद किए।

शव मिलने की सूचना पर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

इस घटना से पूरे गांव में शोक की लहर है। ग्रामीण बताते हैं कि दोनों किशोरियां बहुत ही पढ़ाई-लिखाई में अच्छी थीं और उनका भविष्य उज्ज्वल था। उनकी मौत से सभी को गहरा सदमा लगा है।

पुलिस मामले की जांच कर रही है और नदी में डूबने के कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रही है। ग्रामीणों ने मांग की है कि इस घटना की जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

इस घटना से बचने के लिए क्या करें?

नदी में नहाते समय हमेशा सावधान रहें। गहरे पानी में न जाएं।
यदि आप तैरना नहीं जानते हैं, तो नदी में न जाएं।
नदी के किनारे पर हमेशा कोई बड़ा व्यक्ति मौजूद रहे।
बच्चों को नदी के किनारे अकेला न छोड़ें।
नदी में नहाते समय शराब का सेवन न करें।

यदि कोई व्यक्ति नदी में डूबने लगे तो क्या करें?

यदि कोई व्यक्ति नदी में डूबने लगे, तो उसे बचाने के लिए तुरंत प्रयास करें।
यदि आप तैरना जानते हैं, तो नदी में जाकर उसे बचाने की कोशिश करें।
यदि आप तैरना नहीं जानते हैं, तो किसी ऐसे व्यक्ति को बुलाएं जो तैरना जानता हो।
डूबते हुए व्यक्ति को नदी से बाहर निकालने के बाद उसे प्राथमिक उपचार दें।
यदि वह सांस नहीं ले रहा है, तो उसे सीपीआर (CPR) दें।
जितनी जल्दी हो सके उसे अस्पताल ले जाएं।
याद रखें, नदी में डूबने से बचाव ही सबसे अच्छा उपाय है। इसलिए हमेशा सावधान रहें और नदी में नहाते समय सभी सुरक्षा उपायों का पालन करें।

पुनित कुमार

Editor-in-chief

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments